History of Shahjahan in Hindi Language – शाहजहाँ का इतिहास

Shahjahan story in hindi : Hello Friends, Is post me hum aapko History of Shahjahan in Hindi Language – शाहजहाँ का इतिहास batane wale hai jisme hum aapko about shah jahan in hindi, shahjahan ka photo, full name of shahjahan etc. sabhi important points niche post me provide karne wale hai to dosto chaliye suru karte hai shah jahan history.

History of Shahjahan in Hindi Languag - शाहजहाँ का इतिहास

Shajahan King Info
पूरा नाम अल् आजाद अबुल मुजफ्फर शाहब उद-दीन मोहम्मद
जन्म 5 January 1592
जन्मस्थान खुर्रम, लाहौर, पाकिस्तान
पिता जहाँगीर
माता जगत गोसाई (जोधाबाई)
विवाह अरजुमंद बानू बेगम उर्फ मुमताज महल, हसीना बेगम, श्रीमती मनभाविथी अकबराबादी महल, कन्दाहरी बेग़म, कुदसियाँ बेगम, फतेहपुरी महल, सरहिंदी बेगम, मुति बेगम
सन्तान औरंग़ज़ेब, मुराद बख्श, पुरहुनार बेगम, रोशनारा बेगम, जहांआरा बेगम, दारा शिकोह, शाह शुजा, गौहरा बेगम।
मृत्यु  जनवरी 1666

Shahjahan History in Hindi – शाहजहाँ का इतिहास

  • शाहजहाँ जोधपुर के शासक उदय सिंह की पुत्री जगत गोसाई (जोधाबाई) का पुत्र था। इसके बचपन का नाम खुर्रम था। अहमदनगर के वजीर मलिक अम्बर के विरुद्ध सफलता से खुश होकर जहाँगीर ने खुर्रम को शाहजहाँ की उपाधि प्रदान की। इसका विवाह नूरजहाँ के भाई आसफ खाँ की पुत्री अर्जुमन्दबानो बेगम से हुआ जो मुमताज महल के नाम से प्रसिद्ध हुई।
  • जहाँगीर के सबसे छोटे बेटे शहरयार का विवाह नूरजहाँ के पहले पति से उत्पन्न पुत्री से हुआ। शाहजहाँ ने आसफखाँ की सहायता से सिंहासन पर अधिकार कर लिया। इसके समय में खानेजहाँ लोदी का विद्रोह (1628) हुआ एवं कंधार (1648 ई.) मुगलों के हाथ से निकल गया। शाहजहाँ ने दिल्ली के निकट शाहजहाँनाबाद नगर की स्थापना की और आगरा से राजधानी इस स्थान पर परिवर्तित की। इसे आजकल पुरानी दिल्ली के नाम से जाना जाता है।
  • इसी में शाहजहाँ ने सुरक्षा दुर्ग का निर्माण कराया, जिसे लाल किला या किला-ए-मुबारक के नाम से जाना जाता है। शाहजहाँ ने  इसी किले में दीवान-ए-आम व दीवान-ए-खास का निर्माण करवाया। उसने स्वयं अपना व अपनी बेगम ममताज महल का मकबरा आगरा में बनवाया, जो ताजमहल के नाम से प्रसिद्ध है।
  • ताजमहल के वास्तुविद् उस्ताद ईशा खाँ एवं उस्ताद अहमद लाहौरी थे। इसके निर्माण में प्रयुक्त होने वाला संगमरमर मकराना (राजस्थान) से लाया गया था। ताजमहल के निर्माण में 20 वर्ष का समय लगा। इसका निर्माण कार्य 1632 ई. में आरम्भ हुआ था। इसके अलावा शाहजहाँ ने आगरा में मोती मस्जिद तथा दिल्ली में जामा मस्जिद का निर्माण करवाया।
  • मीर जुमला ने शाहजहाँ को कोहिनूर हीरा भेंट किया था। आगरा के स्थान पर शाहजहाँ ने दिल्ली में शाहजहानाबाद की स्थापना कर राजधानी बनाया। लाल किले में स्थित मोती मस्जिद का निर्माण औरंगजेब ने करवाया था। फ्रांसिस बर्नियर (चिकित्सक) एवं फ्रांसीसी टवर्नियर (जवाहरात एवं मोतियों का जानकार) इसी के समय भारत आया था।
  • शाहजहाँ ने संगीतज्ञ लाल खाँ को गुण समन्दर की उपाधि दी थी। मयूर सिंहासन का निर्माण शाहजहाँ ने करवाया था। इसका मुख्य कलाकार बे बादल खाँ था। शाहजहाँ के दरबार में कवीन्द्राचार्य तथा जगन्नाथ पण्डित संस्कृत के प्रसिद्ध विद्वान थे। कवि जगन्नाथ पण्डित ने रसगंगाधर तथा गंगालहरी की रचना की।
  • शाहजहाँ के पुत्र दारा शिकोह, शुजा, औरंगजेब तथा मुराद थे। दारा शिकोह एक विद्वान् व्यक्ति था। उसने उपनिषदों का फारसी में अनुवाद सिर्र-ए-अकबर के नाम से किया।
  • शाहजहाँ के बीमार होने पर उसके पुत्रों में उत्तराधिकार के लिए संघर्ष आरम्भ हुआ। 25 अप्रैल, 1658 में दारा एवं औरंगजेब के बीच धरमत का युद्ध हुआ। इस युद्ध में दारा की पराजय हुई। शाह बुलन्द इकबाल के रूप में दारा शिकोह जाना जाता था।
  • 1668 ई. में औरंगजेब ने सामूगढ़ के युद्ध में विजय प्राप्त करते हुए राजधानी पर अधिकार कर लिया तथा शाहजहाँ को गिरफ्तार कर आगरा के किले में कैद कर दिया। 1666 ई. में शाहजहाँ की मृत्यु 8 वर्ष कैद में रहने के बाद हो गई।

Yeh Bhi Pade..

To dosto kesi lagi aapko yeh post History of Shahjahan in Hindi Language – शाहजहाँ का इतिहास hame comments kar ke jaroor bataye or is post ko apne dosto ke sath share karna na bhule. Agar aapko Shahjahan ki history ke bare me or kuch pata h to hame comments kar ke aap bata sakte hai hum un points ko fir apne post me update kar dange.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Contact Us Frontier Theme