p Block Elements in Hindi – p ब्लॉक के तत्व ( परिभाषा , लक्षण )

P Block Elements Class 11, 12 Notes in Hindi ( p ब्लॉक के तत्व ) : Hello Friends, Is post me hum aapko p Block Elements in Hindi ( p block ke tatva ) ke bare me batane wale hai jisme hum aapko p block ke tatva kise kehte hai iski paribhasha, lakshan or diagram provide karne wale hai. To dosto chaliye suru karte hai p block elements notes.

p Block Elements in Hindi – p ब्लॉक के तत्व

वे तत्व जिनके परमाणु क्रमांक में वृद्धि के साथ-साथ उनके बाह्य कोश के p-उपकोशों  में इलेक्ट्रॉन प्रवेश करता है, p-ब्लॉक तत्व कहलाते हैं। आवर्त सारणी में 13 से 17 तथा शून्य वर्ग (वर्ग 18) के तत्व p-ब्लॉक तत्व कहलाते हैं।

p Block Elements in Hindi

p-ब्लॉक के तत्वों और s-ब्लॉक के तत्वों को सयुक्त रूप से निरूपक तत्व (representative elements) या मुख्य वर्ग के तत्व (main group elements) कहा जाता है। इन तत्वों के बाह्य कोश का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास ns2np1 -6 होता है, जहाँ n अन्तिम कोश है। इस ब्लॉक के तत्वों के अन्तिम कोश के s -उपकोश में पहले से दो इलेक्ट्रॉन रहते हैं और p-उपकोश में एक से छह तक इलेक्ट्रॉन रहते हैं, जबकि बाह्य कोश से पहली कोश में 8 या 18 इलेक्ट्रॉन होते हैं (He को छोड़कर)।

प्रत्येक आवर्त में इनका बाह्यतम इलेक्ट्रॉनिक विन्यास ns2, np1 से ns2, np6 तक परिवर्तित होता है। प्रत्येक आवर्त ns2, np6, उत्कृष्ट गैस के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास के साथ समाप्त होता है। उत्कृष्ट गैसों में संयोजी कोश में सभी कक्षक इलेक्ट्रॉनों से पूरे भरे होते हैं। इलेक्ट्रॉनों को हटाकर या जोड़कर इस स्थायी व्यवस्था को बदलना बहुत कठिन होता है। इसीलिए उत्कृष्ट गैसों की रासायनिक अभिक्रियाशीलता बहुत कम होती है। उत्कृष्ट गैसों के परिवार से पहले अधातुओं के रासायनिक रूप से दो महत्त्वपूर्ण वर्ग हैं-17 वें वर्ग के हैलोजेन (halogen) तथा 16वें वर्ग के तत्व चाल्कोजन (chalcogen) इन दो वर्गों के तत्वों की ऋणात्मक इलेक्ट्रॉन लब्धि एन्थैल्पी उच्च होती है। ये तत्व सरलता से क्रमशः एक या दो इलेक्ट्रॉन ग्रहण कर स्थायी उत्कृष्ट गैस इलेक्ट्रॉनिक विन्यास प्राप्त कर लेते हैं।

p – Block के तत्वों के लक्षण : Characteristics of p-Block Elements 

आवर्त सारणी के इन तत्वों के लक्षण निम्नलिखित है।

इलेक्ट्रॉनिक विन्यास ( Electronic configuration )

इन तत्वों में बाह्य कोश के s – उपकोश में 2 और p – उपकोष में 1 से 6 तक इलेक्ट्रान होते है जैसे –

B = 2,3 1s2, 2s2, 2p1
C = 2,4 1s2, 2s2, 2p2
N =2,5 1s2, 2s2, 2p3
O = 2,6 1s2, 2s2, 2p4
F = 2,7 1s2, 2s2, 2p5
Ne = 2,8 1s2, 2s2, 2p6

संयोजकता (Valency)

ऑक्सीजन, फ्लुओरीन तथा अक्रिय गैसों को छोडकर, सभी p-ब्लॉक तत्वों की ऑक्सीज़न के प्रति सयोजकता उनके बाह्य कोश के इलेक्ट्रोनो की संख्या के बराबर होती है। कुछ p-ब्लॉक तत्वों की सयोजकता उनके भिन्न – भिन्न यौगिकों में भिन्न – भिन्न हो सकती है अर्थात् इनमें कुछ तत्व परिवर्ती (variable) सयोजकता भी व्यक्त करते है। जैसे—PCl3, PCl5, N2O, N2O3, N2O5 आदि।

परमाणु त्रिज्या (Atomic radius)

इन तत्वों की परमाणु त्रिज्या अपेक्षाकृत कम होती है। शन्य वर्ग के तत्वों की परमाणु त्रिज्या प्रायः अधिक होती है)।

आयनन एन्थैल्पी (Ionization enthalpy)

इन तत्वों की आयनन एन्थैल्पी उच्च कोटि की होती हैं। इसी कारण अधिकांश p-ब्लॉक तत्व धनायन नहीं बनाते हैं। (शून्य वर्ग के तत्वों की आयनन एन्थैल्पी सर्वाधिक होती है)।

इलेक्ट्रॉन लब्धि एन्थैल्पी (Electron gain enthalpy)

इन तत्वों की इलेक्ट्रॉन लब्धि एन्थैल्पी उच्च होती हैं (शून्य वर्ग के तत्वों की इलेक्ट्रॉन लब्धि एन्थैल्पी शून्य होती है)।

ऋण-विद्युतता (Electronegativity)

इन तत्वों की ऋण-विद्युतता अपेक्षाकृत उच्च कोटि की होती है (शून्य वर्ग के तत्वों को छोड़कर)।

क्रियाशीलता (Reactivity)

हैलोजेनों, ऑक्सीजन, सल्फर तथा फॉस्फोरस को छोड़कर ‘ अन्य p-ब्लॉक तत्वों की क्रियाशीलता कम होती है।

अधात्विक गुण (Non-metallic character)

p-ब्लॉक तत्व, धातु (Al, Sn, Pb आदि), अधातु (N, P, 0 तथा हैलोजेन आदि) तथा उपधातु (Ge, As, Sb आदि) तीनों प्रकार के होते हैं। इस कारण इनको सामान्य तत्व कहते हैं। आवर्त में बाई से दाईं ओर बढ़ने पर तत्वों के अधात्विक लक्षणों में वृद्धि होती है। तथा किसी वर्ग में ऊपर से नीचे जाने पर धात्विक लक्षणों में वृद्धि होती है।

यौगिकों की प्रकृति (Nature of compounds)

ये तत्व मुख्यतः सहसंयोजक यौगिक बनाते है अधातुओं के ऑक्साइड प्रायः अम्लीय होते हैं। Al, Sn, As तथा Sb के ऑक्साइड उभयधर्मी होते हैं।

Yeh Bhi Pade,,,,

To dosto kesi lagi aapko yeh post p Block Elements in Hindi – p ब्लॉक के तत्व ( परिभाषा , लक्षण ) hame comments kar ke jaroor bataye or is post ko apne dosto ke sath share karna na bhule.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Contact Us Frontier Theme