मिश्रण किसे कहते है ( Mishran )- उदाहरण, प्रकार और विशेषताएँ

मिश्रण अथवा अशुद्ध पदार्थ (Mixture Or Impure Substance) : Hello Friends, Is post me hum aapko Mishran kise kehte hai ( मिश्रण किसे कहते है ) iski paribhasha, udaharan, prakar or vishestaye batane wale hai mishran do prakar ke hote hai samangi mishran or vishamangi mishran jisko hamne aapko niche post me details se bataya hai to dosto chaliye suru karte hai Mishran kise kehte hai.

मिश्रण किसे कहते है: ( Mishran kise kehte hai )

दो या दो से अधिक तत्वों या यौगिकों को किसी भी अनुपात में मिलाने पर जो अशुद्ध और विषमांग द्रव्य प्राप्त होता है, वह मिश्रण या अशुद्ध पदार्थ कहलाता है।

मिश्रण के बनने में अवयवी तत्व अथवा यौगिक परस्पर रासायनिक संयोग नहीं करते हैं, जिससे अवयवी पदार्थों के गुणधर्म सदैव विद्यमान रहते हैं और मिश्रण से उन्हें सरल यान्त्रिक विधियों द्वारा पृथक कि जा सकता है। उदाहरण स्वरूप-मिश्रण के कुछ उदाहरण निम्नवत् हैं

Mishran kise kehte hai ( मिश्रण किसे कहते है )

मिश्रण के उदहारण ( Example of Mixture )

  1. ठोसों का मिश्रण (Mixture of solids)-सीमेण्ट, बारूद, पीतल आदि।
  2. ठोस-द्रव मिश्रण (Solid-liquid mixture)–चीनी का विलयन, नमक का विलयन, चीनी व दूध का मिश्रण, समुद्र का जल, शर्बत आदि।
  3. द्रव-द्रव मिश्रण (Liquid-liquid mixture)–दूध व जल का मिश्रण, ऐल्कोहॉल व जल का मिश्रण आदि।
  4. द्रव-गैस का मिश्रण (Liquid-gas mixture)—सोडावाटर (जल + कार्बन डाइऑक्साइड)।
  5. गैस-गैस मिश्रण (Gas-gas mixture)-कोल गैस, प्रोड्यूसर गैस, वायु आदि।
  6. ठोस-गैस मिश्रण (Solid-gas mixture)-धुआँ (कार्बन के बेस कण + वायु)
  7. गैस-ठोस-द्रव मिश्रण (Gas-solid-liquid mixture)-कोका कोला, लेमोनेड आदि।
  8. वायु (Air)-ऑक्सीजन, नाइट्रोजन, कार्बन डाइऑक्साइड, जलवाष्प, आर्गन इत्यादि का मिश्रण।

मिश्रण के प्रकार (Types of Mixture)

सामान्यत: मिश्रण निम्नलिखित दो प्रकार के होते हैं

समांगी मिश्रण (Homogeneous mixture)

जिस मिश्रण के प्रत्येक भाग के सभी गुण एकसमान होते हैं, उसे समांगी मिश्रण कहते हैं। सम्पूर्ण समांग मिश्रण का संघटन या रचना एकसमान होती है। इसमें उपस्थित विभिन्न अवयवों की सीमाओं को पृथक रूप से देखा नहीं जा सकता है। उदाहरणार्थ-शक्कर का जल में मिश्रण एक समांगी मिश्रण है; क्योंकि इसके सभी भागों में शक्कर-जल का संघटन एकसमान होता है तथा एक जैसा मीठा होता है। इसमें जल और शक्कर की पृथक-पृथक सीमा नहीं दिखाई देती है। दो या दो से अधिक मिश्रणीय द्रवों का मिश्रण भी समांगी होता है। जैसे-ऐल्कोहॉल तथा जल का मिश्रण समांगी होता है। इसी प्रकार वायु भी ऑक्सीजन, नाइट्रोजन, कार्बन डाइऑक्साइड, जलवाष्प तथा आर्गन इत्यादि का समांगी मिश्रण होती है।
सभी समांगी मिश्रण विलयन (solution) कहलाते हैं; अतः दो या दो से अधिक पदार्थों के आपस में मिलने से बने हुए समांगी मिश्रण को, जिसके प्रत्येक भाग की संरचना एकसमान हो, विलयन कहते हैं। विलयन में जो अवयव कम मात्रा में होता है, उसे विलेय (solute) तथा जो अधिक मात्रा में होता है, उसे विलायक (solvent) कहते हैं। उदाहरणार्थ-शर्बत एक विलयन है। इसमें चीनी विलेय तथा जल विलायक है।

विषमांगी मिश्रण (Heterogeneous mixture)

जिस मिश्रण के प्रत्येक भाग के गुण एक-समान नहीं होते, उसे विषमांग मिश्रण कहते हैं। इसकी रचना एकसमान नहीं होती है। इसके विभिन्न अवयवों के बीच पृथक्करण सीमा स्पष्ट दिखाई देती है। उदाहरणार्थ–चीनी और नमक तथा दाल के दानों और गन्दगी (प्राय: छोटे कंकड़) के कणों के मिश्रण विषमांगी मिश्रण हैं। इसी प्रकार रेत तथा जल का मिश्रण, रेत तथा लोहे का मिश्रण और पेट्रोल तथा जल का मिश्रण आदि भी विषमांगी मिश्रण हैं। अधिकांश मिश्रण विषमांगी होते हैं। केवल विलयन और मिश्र धातु (alloys) समांगी मिश्रण हैं।

मिश्रण की विशेषताएँ ( Characteristics of Mixture )

मिश्रण की प्रमुख विशेषताएँ निम्नलिखित हैं

विषमांगता (Heterogeneity)

प्रायः मिश्रण विषमांग होते हैं; जैसे—गन्धक और लोहे के बुरादे के मिश्रण में गन्धक के पीले तथा लोहे के काले कण अलग-अलग दिखाई देते हैं।

अनिश्चित अनुपात (Indeterminate ratio)

मिश्रण के अवयवी पदार्थ अनिश्चित अनुपात में होते हैं अर्थात् इनका संघटन अनिश्चित होता है; जैसे—लोहे के बुरादे तथा गन्धक को किसी भी अनुपात में मिलाने पर मिश्रण प्राप्त होता है।

विशिष्ट गुणों का अभाव (Lack of specific characteristics)

मिश्रण का कोई विशिष्ट गुण नहीं होता है। मिश्रित अवयवों के गुण ही इसके गुण माने जाते हैं; जैसे-लोहे तथा गन्धक के मिश्रण में तनु गन्धक का अम्ल मिलाने पर हाइड्रोजन गैस निकलती है। यह लोहे का गुण है।

पृथक्करण (Separation)

मिश्रण के अवयवों को भौतिक विधियों द्वारा अलग-अलग किया जा सकता है। उदाहरण के लिए-लोहे का बुरादा तथा गन्धक के मिश्रण में कार्बन डाइसल्फाइड मिलाने पर। गन्धक घुल जाता है। मिश्रण में केवल लोहा अविलेय बचता है।

ऊर्जा परिवर्तन (Energ change)

सामान्यत: मिश्रण बनाने में कोई ऊर्जा परिवर्तन नहीं होता है।

रासायनिक बन्धन (Chemical bonding)

मिश्रण में उपस्थित अवयव कोई नया रासायनिक | बन्ध स्थापित नहीं करते; अतः इनमें नए अणु नहीं बनते हैं।

Yeh Bhi Pade,,,,,

To dosto kesi lagi aapko yeh post Mishran kise kehte hai ( मिश्रण किसे कहते है ) – उदाहरण, प्रकार और विशेषताएँ hame comments kar ke jaroor bataye or is post ko apne dosto ke sath share karna na bhule.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Contact Us Frontier Theme