Heavy Water in Hindi ( D2O ) – भारी जल किसे कहते है ( भौतिक गुण व् उपयोग )

Heavy Water in Hindi ( D2O ) : Hello Friends, is post me hum aapko Heavy Water in Hindi : भारी जल किसे कहते है ko details se batane wale hai chemistry me yeh question hamesa aapko exam me pucha jata hai isliye aapko Heavy Water in Hindi ke bare me pata hona bhut jaroori hai. Is post me hum aapko bhari jal ki paribhasha iske upyog or properties ke bare me details se batane wale hai to dosto chaliye suru karte hai Heavy Water ( भारी जल ).

Heavy Water in Hindi  : भारी जल किसे कहते है ( D2O )

भारी हाइड्रोजन (ड्यूटीरियम D2) के ऑक्साइड (D2O) को भारी जल कहते हैं। इसका अणुभार 20 तथा PH Value 7 होती  है। भारी जल का आविष्कार सन् 1932 में यूरे और वाशबर्न ने किया। यूरे को सन् 1934 में भारी हाइड्रोजन और भारी जल की खोज के लिए नोबेल पुरस्कार मिला था।

D2O Ka Rasayanik Naam : ड्यूटीरियम ऑक्साइड

Bhari jal ka PH maan : 7

भारी जल बनाने की यूरे, ब्राउन और डेगेट विधि (औद्योगिक निर्माण) (Urey, Brown and Degate Method of Preparation of Heavy Water)

Heavy Water in Hindi

साधारण जल के 6,000 भागों में लगभग 1 भाग भारी जल होता है। भारी जल साधारण जल के विद्युत-अपघटन द्वारा बनाया जाता है।

उपकरण (Apparatus)

इस उपकरण में 18” लम्बा तथा 4” चौड़ा इस्पात का बना एक खोल होता। है। यह खोल कैथोड का कार्य करता है। इसमें एक निकिल की छिद्रयुक्त चादर लटकाते हैं जो ऐनोड का काय करती है। विभिन्न पदों में इस प्रकार के बहुत-से सेल प्रयोग किए जाते हैं। प्रत्येक पद से प्राप्त गैसों का जलाकर फिर से जल प्राप्त करते हैं तथा प्रथम पद पर पहुँचा देते हैं।

प्रथम पद (First step)

तीन लीटर वाली 30 सेलों में 3% NaOH विलयन लेकर विद्युत-अपघटन करते हैं। इस पद से प्राप्त गैसों में हल्की हाइड्रोजन (1H1) और O2 होती है। इनको पृथक् कर देते हैं। 72 घण्टों के पश्चात् 90 लीटर जल का केवल 1/6 भाग शेष रहता है। प्राप्त अवशेष में 2:5% भारी जल होता है।

द्वितीय पद (Second step)

इसमें केवल 6 सेल होते हैं। इनमें पूर्व पद से प्राप्त अवशेष का विद्युत-अपघटन करते हैं। ऐनोड प्राप्त अवशेष में 12% भारी जल होता है। उत्पन्न गैसों को जलाकर जल उत्पन्न करते है जिसे प्रथम पद में काम में लाते है।

तृतीय पद (Third step)

द्वितीय पद से प्राप्त अवशेष का विद्युत-अपघटन करते हैं। लगभग 60% भारी जल प्राप्त करते हैं। प्राप्त गैसों को जलाकर जल उत्पन्न करते हैं जिसे द्वितीय पद में प्रयुक्त करते हैं।

चतुर्थ पद (Fourth step)

तृतीय पद से प्राप्त अवशेष का पुन: विद्युत-अपघटन करते हैं और लगभग 100% भारी जल प्राप्त कर लेते हैं। प्राप्त गैसों को जलाकर जल उत्पन्न करते हैं जिसे तृतीय पद में प्रयुक्त करते हैं।

पंचम पद (Fifth step)

चतुर्थ पद के उपरान्त अवशेष का आसवन करके आसुत जल का P2O5 की उपस्थिति में विद्युत-अपघटन करते हैं जिससे शुद्ध भारी हाइड्रोजन प्राप्त कर लेते हैं जिसे ऑक्सीज़न के साथ जलाकर 100% भारी जल प्राप्त होता है।

भारी जल के उपयोग (Uses of Heavy Water)

  1. ड्यूटीरियम तथा इसके यौगिक बनाने में काम आता है जिनका उपयोग औषधियों के निर्माण में होता है।
  2. नाभिकीय अभिक्रियाओं में मन्दक (moderator) के रूप में।
  3. आरेख (tracer) के रूप में रासायनिक तथा जैव-अभिक्रियाओं की क्रिया-विधि के अध्ययन में।
  4. आयनिक तथा अनायनिक हाइड्रोजन के विभेद करने में।

भारी जल के गुण (Properties of Heavy Water)

Heavy Water ( भारी जल ) के निम्नलिखित गुण है।

भौतिक गुण (Physical Properties of D2O)

  1. भारी जल के भौतिक स्थिरांक साधारण जल से कुछ अधिक होते हैं। इनके भौतिक गुण निम्नलिखित हैं
  2. साधारण जल की तरह भारी जल रंगहीन, गन्धहीन तथा स्वादहीन होता हैं।
  3. इसका गलनांक, क्वथनांक तथा घनत्व साधारण जल से अधिक होता है, इसका अणुभार 20.028 होता है। इसकी अभिक्रियाएँ धीमी होती हैं।
  4. भारी जल का क्वथनांक 374.4K तथा हिमांक 276.8K होता है। इसका आपेक्षिक घनत्व 293 K पर 1.1059 होता है। इसका वियोजन स्थिरांक 3 x 10-15 है। .

रासायनिक गुण (Chemical Properties of D2O)

भारी जल के रासायनिक गुण साधारण जल के समान ही होते हैं; यद्यपि इसकी अभिक्रिया करने की दर अत्यन्त धीमी होती है। भारी जल के प्रमुख रासायनिक गुण निम्नलिखित है।

1: विधुत अपघटन ( Electrolysis )

इसका P2O5 की उपस्थिति में विधुत अपघटन करने से D2 बनता है।

2D2O → 2D2+O2

2: धातु से क्रिया ( Action with metals )

धातुओ से क्रिया करके ड्यूटीरियम देता है।

2Na + 2D2O → 2NaOD + D2

3: धातु आक्साइडो से क्रिया ( Action with metal-oxides )

भारी जल  धातु आक्साइडो से धीमी दर पर अभिक्रिया करके ड्युटीरो आक्साइड बनाता है।

K2O + D2O → 2KOD

MgO + D2O → Mg(OH)2

Yeh Bhi Pade,,,,,

To dosto kesi lagi aapko yeh post Heavy Water in Hindi ( D2O ) – भारी जल किसे कहते है ( भौतिक गुण व् उपयोग ) hame comments kar ke jaroor bataye or is post ko apne dosto ke sath share karna na bhule.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Contact Us Frontier Theme