Noun in Hindi ( संज्ञा किसे कहते है – संज्ञा की परिभाषा, भेद, उदाहरण )

Noun in Hindi : Hello Friends, Hindi grammer ki is post me hum aapko Sangya kise kehte hai ( संज्ञा किसे कहते है : What is noun in hindi ) ke bare me batane wale hai jisme hum aapko sangya ki Paribhasha, Bhed, Udaharan, Sangya ke prakar, Sangya chart, meaning ke bare me details se batane wale hai to dosto chaliye suru karte hai Noun in hindi.

संज्ञा किसे कहते है – Noun Definition in Hindi

noun in hindi

“संज्ञा उस विकारी शब्द को कहते हैं जिससे किसी वस्तु विशेष अथवा किसी व्यक्ति के नाम का बोध हो ”  सरल शब्दों में संज्ञा की परिभाषा  “किसी वस्तु, व्यक्ति, स्थान, प्राणी, गुण, भाव आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं। “

जैसे- घर, गंगा, मोहन, भारत, दया, ताजमहल, दिल्ली, भैंस आदि सभी संज्ञा के उदहारण है। यह सभी किसी वस्तु, व्यक्ति, स्थान, प्राणी, गुण, भाव आदि के नाम है इन्ही को हम Noun in hindi कहते है।

Noun Chart – Sangya Chart

Sangya chart

Noun in Hindi – ( संज्ञा के भेद : Sangya Ke Bhed )

संज्ञा के तीन भेद होते है जो निम्नलिखित है।

  1. व्यक्तिवाचक संज्ञा
  2. जातिवाचक संज्ञा
  3. भाववाचक संज्ञा

व्यक्तिवाचक संज्ञा ( Vyakti Vachak Sangya ) – Proper Noun

व्यक्तिवाचक संज्ञा उसे कहते हैं जिससे किसी एक ही पदार्थ अथवा पदार्थो के एक ही समूह का बोध होता हो, जैसे गंगा, महामण्डल, काशी, मोहन आदि यहाँ काशी या मोहन कहने से किसी एक ही पदार्च या प्राणी का बोध होता है। काशी कहने से इस नाम के एक ही नगर अथवा एक ही प्राणी का बोध होता है।

जातिवाचक संज्ञा ( Jati Vachak Sangya ) – Common Noun

जातिवाचक संज्ञा उसे कहते हैं जिससे किसी जाति के सभी पदार्थो अथवा उनके समूहों का दोष हो, जैसे नदी, पर्वत, मकान, सभा, मनुष्य आदि।  पर्वत कहने से हिमालय, विंध्याचल, आबू आदि सभी पर्वतों का बोध होता है इस प्रकार नदी कहने से संसार की सभी नदियों का बोध होता है।

जातिवाचक संज्ञा दो प्रकार की होती है।

  1. द्रव्यवाचक संज्ञा
  2. समूह वाचक संज्ञा

द्रव्यवाचक संज्ञा ( Dravya Vachak Sangya ) – Material Noun

जिन संज्ञा शब्दों से किसी धातु, सामग्री, पदार्थ आदि का बोध हो द्रव्यवाचक संज्ञा कहलाती है जैसे – जैसे दूध, पानी, तेल ,सोना, चांदी, लोहा, पीतल तांबा आदि।

समूहवाचक संज्ञा ( Samuh Vachak Sangya ) – Collective Noun

जिन संज्ञा शब्दों से किसी समूह का बोध हो उसे समूहवाचक संज्ञा कहते है। जैसे – सेना, पुस्तकालय, परिवार, दल, आयोग आदि।

भाववाचक संज्ञा ( Bhav Vachak Sangya ) – Abstract Noun

जिस संज्ञा से पदार्थ में प्राप्त होने वाले किसी धर्म का दोष होता है उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं, जैसे; लड़कपन, बुढ़ापा, चतुराई, नम्रता, क्रोध, मोटापा आदि।

संज्ञा के भेद के सम्बन्ध में हिन्दी के व्याकरण एकमत नहीं हैं। हिन्दी के अधिकांश व्याकरण ग्रन्थों में संज्ञा के पाँच भेद माने गए हैं – व्यक्तिवाचक, जातिवाचक, गुणवाचक, भाववाचक और सर्वनाम वस्तुतः ये भेद कुछ तो संस्कृत व्याकरण के अनुसार, कुछ अंग्रेजी व्याकरण के अनुसार, कुछ रूप के अनुसार तथा कुछ प्रयोग के अनुसार किए गए हैं।

Yeh Bhi Pade…

To dosto kesi lagi aapko yeh post Noun in Hindi संज्ञा किसे कहते है – संज्ञा की परिभाषा, भेद, उदाहरण agar aapko sangya ( Noun) se related kuch bhi puchna hai to hame comments kar ke jaroor bataye or is post ko apne dosto ke sath share karna na bhule.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Contact Us Frontier Theme