Beti Bachao Beti Padhao Essay – बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध

Hello Friends, Is post me hum aapko Beti Bachao Beti Padhao Essay In hindi par 2 essay provide kar rahe hai jo class 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10,11 and 12 ke students ke liye available hai yaha short and long essay jisme hum aapko Beti Bachao Beti Padhao nibandh – 1, 350 word me or Beti Bachao Beti Padhao nibandh – 2, 500 words me niche is post me provide kar rahe hai.

Beti Bachao Beti Padhao Essay In hindi PDF Download karni hai to is post ke last me aapko is essay ko download karne ka link mil jayega aap waha se Beti Bachao Beti Padhao Essay PDF download kar sakte hai.

Beti Bachao Beti Padhao Essay

 

Beti Bachao Beti Padhao Essay ( 100 Words )

बेटी बचाओ बेटी पढाओ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई एक सरकारी सामाजिक योजना है, जिसमें भारतीय समाज में बालिका के खिलाफ लैंगिक असंतुलन और भेदभाव को दूर करने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना को प्रधान मंत्री द्वारा 22 जनवरी 2015 को पानीपत, हरियाणा में गुरुवार को लॉन्च किया गया था। यह योजना समाज में लड़कियों के महत्व के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए है। कन्या भ्रूण हत्या को पूरी तरह से हटाकर बालिकाओं के जीवन को बचाने के लिए आम लोगों में जागरूकता बढ़ाना है। लोगों को अपनी लड़की के जन्म का जश्न मनाना चाहिए और उन्हें पूरी जिम्मेदारी के साथ शिक्षित करना चाहिए जैसा कि वे अपने लड़के के लिए करते हैं।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध ( 350 Words )

इस अभियान की सफलता के लिए तमाम सरकारी प्रयासों के साथ व्यक्तिगत प्रयास किये जाने की नितांत आवश्यकता है। जैसे लिंग समानता को बचपन से ही हर परिवार में प्रसारित करना.कन्या भ्रूण हत्या विरोध एवं ऐसा करने वालों का समाज से बहिस्कार | आदि। इस अभियान के माध्यम से में पत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते तत्र देवता रमन्ते’ की भावना पुन: जागृत की जसअ सकती है।

इस अभियान की सफलता के लिए तमाम सरकारी प्रयासों के साथ व्यक्तिगत प्रयास किये जाने की नितांत आवश्यकता है। जैसे लिंग समानता को बचपन से ही हर परिवार में प्रसारित करना,कन्या भ्रूण हत्या विरोध एवं ऐसा करने वालों का समाज से बहिस्कार | आदि। इस अभियान के माध्यम से ५ पत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते तत्र देवता रमन्ते’ की भावना पुन: जागृत की जसअ सकती है।

महिलाओं को संरक्षण देने एवं सशक्त बनाने के लिए इस योजना के अंतर्गत तमाम उपाय किये गए हैं। जैसे बालिका जन्म एवं बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए जागरूकता. मुद्दे को सार्वजानिक विमर्श का विषय बनाना, निम्न लिंगानुपात वाले जिलों में गहन एवं एकीकृत कार्यवाही स्थानीय महिलाओं एवं युवाओं की सहभागीता सुनिश्चित करना, बजट की व्यवस्था, सुकन्या योजना आदि।

इन सबके कारणों में छुपी मानसिकता, लैंगिक असमानता , दहेज़ परता भारतीय समाज में महिलाओं का सामाजिक सांस्कृतिक मूल्य कम आंकना एवं आर्तिक अनुपयोगिता, पुरुष प्रधान सोच आदि है।

आखिर इस अभियान की जरुरत क्यों पड़ी? |2011 की जनगणनानुसार भारत का लिंगानुपात 918 महिलाएँ प्रति हज़ार पुरुष हैं। जो इस अभियान की आवशयकता बयां करता है। यूनिसेक की रिपोर्ट के अनुसार सुनियोजित लिंगभेद के कारण भारत से 500 करोड़ लड़कियां गायब है। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार भारत में प्रतिदिन 2000 अर्जन्मी कन्याओं की हत्या की जाती है।

अल्ताफ हुसैन हाली के शब्दों “माँओं बहनों, बेटियों दुनिया की जन्नत तुमसे है” से देश के प्रधानमंत्री ने 22 जनवरी 2015 को पानीपत (हरियाणा) से “बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ” अभियान की शुरुआत की। यह बाल विकास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा मानव संसाधन मंत्रालय की संयुक्त पहल है।इसे 100 निम्न लिंगानुपात वाले जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के तहत शुरु किया गया है।

Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi ( 500 word )

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ इसका अर्थ है। “लड़कियों को बचाना और शिक्षित करना” बेटियों के इस बिगड़ते हुए हालात को देखते हुए हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 22 जनवरी 2015 को बेटियों के हालात सुधारने के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को प्रारंभ किया।

इस योजना की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने चिकित्सक बिरादरी को ये याद दिलाया कि “चिकित्सा पेशा लोगों को जीवन देने के लिए बना है ना कि उन्हें खत्म करने के लिए” भारत के प्रत्येक नागरिक को कन्या शिशु बचाओ के साथ-साथ इनका समाज में स्तर सुधारने के लिए प्रयास करना चाहिए। लडकियों को उनके माता-पिता द्वारा लडकों के समान समझा। जाना चाहिए और उन्हें सभी कार्यक्षेत्रों में समान अवसर प्रदान करने चाहिए।

इसी दिशा में आगे कदम बढ़ाते हुए सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना की शुरूआत भी की है, जिसके तहत लड़कियों की पढाई और शादी के लिए सरकार पैसे मुहैया कराएगी ये संभव है कि इस योजना से लड़कों और लड़कियों के प्रति भेदभाव खत्म हो जाए और कन्या भ्रूण हत्या का अन्त करने में ये बहुत मुख्य कड़ी साबित हो।

हमारे देश के लोगों ने मिलकर हमारे देश में पुरुष प्रधान नीति को अपना लिया है जिसके कारण देश की बेटियों के हालात गंभीर रूप से खराब हो गए हैं। उनके साथ लैंगिग भेदभाव किया जा रहा है और ना ही उन्हें उचित शिक्षा दी जा रही है। जिसके कारण वह हर क्षेत्र में पिछड़ गई है। उनकी आवाज को इस कदर दबा दिया गया है कि उन्हें घर से बाहर निकलने की आजादी तक नहीं दी जाती है। इस गंभीर मुद्दे के कारण ही। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की गई।

मैं सभी माताओं से पूछना चाहती हूं कि बेटी नहीं पैदा होगी तो बहू कहां से लाओगे? हम चाहते हैं कि बहू पढ़ी-लिखी मिले यदि हम बेटी को पढ़ा नहीं सकते तो शिक्षित बहू की उम्मीद करना भी बेमानी है। जिस धरती पर मानवता का संदेश दिया गया हो वहां बेटियों की हत्या बहुत ही दुख देती है। बेटी बचाओ अभियान को सरकार द्वारा कन्या भ्रूण हत्या के साथ-साथ बालिकाओं के विरुद्ध अन्य अपराधों को समाप्त करने के लिए शुरू किया गया है।

महिलाओं के लिए सबसे बड़ा अपराध कन्या भ्रूण हत्या है। जिसमें अल्ट्रासाउंड के माध्यम से लिंग परीक्षण के बाद बेटीयों को माँ के गर्भ में ही मार दिया जाता है। इसके परिणाम स्वरूप समाज में बालिकाओं की संख्या लगातार कम होती जा रही है।

इस धरती पर मानव जाति का अस्तित्व, आदमी और औरत दोनों की समान भागीदारी के बिना संभव नहीं होता है। दोनों ही किसी भी देश के विकास के लिए समान रूप से जिम्मेदार है। महिलाएं पुरुषों से अधिक महत्वपूर्ण होती हैं। क्योंकि महिलाओं के बिना मानव जाति की निरंतरता के बारे में कल्पना भी नहीं की जा सकती हैं, क्योंकि महिलाएं ही मानव को जन्म देती हैं।

Beti Bachao Beti Padhao Essay In hindi PDF Download 

Download : Beti Bachao Beti Padhao Essay PDF 

Yeh Bhi Pade…

To dosto kesi lagi aapko yeh post Beti Bachao Beti Padhao Essay – बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध hame comments kar ke jaroor bataye or is essay or speech ko apne dosto ke sath share karna na bhule.

Beti Bachao Beti Padhao Essay in punjabi, marathi, gujrati, short speech on Beti Bachao in hindi

Important Notes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Frontier Theme