Solar System In Hindi – सौरमंडल और ग्रह (Planets) की पूरी जानकारी

Solar System Information : Hello Friends is post me hum aapko Solar System In Hindi ( Sormandal ) ke bare me complete information dene wale hai yha aapko solar system or planet name in hindi ( सौरमंडल के ग्रह ) ke sath inki puri detail information milegi.

Solar System In Hindi PDF ko bhi aap is post se download kar sakte hai is pdf me aapko solar system and planet ke important general knowledge question or inke bare me kuch important points bataye gye hai jo aapke exam me bhut help karege isliye is Solar System In Hindi PDF download karna na bhule.

Solar System In Hindi

To dosto chaliye suru karte hai Solar System In Hindi.

Solar System In Hindi – सौरमण्डल

  • सौरमण्डल में सूर्य के साथ आठ ग्रह, उनके उपग्रह कुछ छुद्रग्रह (Asteroids) तथा बड़ी संख्या में धूमकेतु (Comets) सम्मिलित हैं।
  • सौरमण्डल के सभी पिण्ड गुरुत्वाकर्षण के कारण आपस में बंधे रहते हैं।
  • सूर्य  के चारों ओर घूमने वाले खगोलीय पिण्ड को ग्रह कहते हैं तथा ग्रह के चारों ओर परिक्रमा करने लाले छोटे आकाशीय पिण्ड को उपग्रह (Satellite) कहते हैं।
  • ग्रहों की गति का नियम केपलर ने प्रतिपादित किया।

सूर्य – ( Sun in Solar System in Hindi )

  • सौरमण्डल में सूर्य प्रधान है, क्योंकि सौरमण्डल निकाय के द्रव्य का लगभग 99.99% द्रव्य सूर्य में निहित है। सूर्य एक तारा है। इसका परिक्रमण काल 25 करोड़ वर्ष है, जिसे ब्रह्माण्ड वर्ष (Cosmos year) कहते हैं।
  • सूर्य की आयु 5 अरब वर्ष है, जबकि इसका कुल जीवनकाल 10 अरब वर्ष का है। सूर्य का व्यास 13 लाख 92 हजार किमी है, जो पृथ्वी के व्यास का लगभग 110 गुना है। सूर्य का प्रकाश पृथ्वी तक पहुंचने में 8 मिनट 16.6 सैकण्ड लगते हैं।
  • सूर्य अपने अक्ष पर पूर्व से पश्चिम की ओर घूमता है।
  • सूर्य एक गैसीय गोला है, जिसमें 71% हाइड्रोजन, 26.5% हीलियम तथा 2% अन्य भारी तत्त्व (जैसे-लीथियम व यूरेनियम) हैं।
  • सूर्य का केन्द्रीय भाग कोर (Core) कहलाता है, जिसका तापमान 15 मिलियान केल्विन (15×10’K) है । बाहरी सतह का तापमान 6000°C है।
  • सूर्य की ऊर्जा का स्रोत वहाँ पर होने वाला व नाभिकीय संलयन है जिसमें हाइड्रोजन का हीलियान में रूपान्तरण होता है।
  • सूर्य की दीप्तिमान सतह को (मध्य भाग) प्रकाशमण्डल (Photosphere) प्रकाशमण्डल के किनारे प्रकाशमान नहीं होते, क्योकि
    कहते है। सूर्य वायुमण्डल के प्रकाश का अवशोषण कर लेता है। इसे वर्णमण्डल (Chromosphere) कहते हैं। यह लाल रंग का होता है।
  • परिमण्डल (Corona) सूर्य के चारों ओर एक पतला वातावरण है, जो पूर्ण सूर्यग्रहण के समय दिखाई देता है। यह एक्स-किरणें उत्सर्जित करता है। इसे सूर्य का मुकुट भी कहा जाता है।
  • सौर प्रदीप्ति (Solar Flare) यह सूर्य की सतह से निकलने वाली विशाल ऊर्जा है, जो उच्च गति वाले परमाणु नाभिक और इलेक्ट्रॉनों के रूप में होती है, जिन्हें कॉस्मिक किरणें (Cosmic Rays) कहते हैं।
  • सौर पवनों का जब वायुमण्डल से घर्षण होता है, तो पृथ्वी के दोनों ध्रुवों पर रोशनी की बरसात जैसा नजारा होता है, जिसे उत्तरी ध्रुव पर ओरोरा बोरियालिस (Aurora Borealis) एवं दक्षिणी ध्रुव पर ओरोरा ऑस्ट्रेलिस (Aurora Australis) कहते है।

Planet In Hindi – ग्रह किसे कहते है 

  •  ग्रह सूर्य की परिक्रमा करने वाले पिण्ड हैं, जो सूर्य से ही निकले हुए भाग हैं। ये सूर्य के प्रकाश से ही प्रकाशित होते हैं और सूर्य से ही ऊष्मा प्राप्त करते हैं।
  • शुक्र (Venus) एवं अरुण (Uranus) सूर्य के चारों और पूर्व-से-पश्चिम दिशा में परिभ्रमण करते हैं, जबकि अन्य सभी ग्रह पश्चिम से पूर्व दिशा में
    परिभ्रमण करते हैं।
  • बृहस्पति (Jupiter) सौरमण्डल का सबसे बड़ा ग्रह है, जबकि बुध (Mercury) सबसे छोटा ग्रह है।

ग्रहों को दो भागों में विभाजित किया गया है।

(i) आन्तरिक या पार्थिव ग्रह (Terrestrial or Inner Planet)

ये संख्या में चार हैं। बुध, शुक्र, पृथ्वी एवं मंगल को पार्थिव ग्रह कहा जाता
है, क्योंकि ये पृथ्वी के समान होते हैं।

(ii) बृहस्पतीय या बाह्य ग्रह (Jovean or Outer Planet)

बृहस्पति (Jupiter), शनि (Saturn), अरुण (Uranus) एवं वरुण (Neptune) को
बृहस्पतीय ग्रह या बाह्य ग्रह कहा जाता है।

Planet Name in Hindi – ग्रहों के नाम ( Graho Ke Naam ) 

Niche hum aapko sabhi 8 graho ke naam or graho ki jankari batane ja rahe hai to aap is planet in hindi solar system ko jaroor pade.

बुध – Mercury Planet in Hindi 

  • यह सूर्य का सबसे नजदीकी ग्रह है।
  • अपनी अक्ष पर 59 दिन में घूर्णन करता है।
  • यह सबसे छोटा ग्रह है, सूर्य की परिक्रमा 88 दिनों में पूरी करता है। यह सर्वाधिक तीव्र गति से सूर्य की परिक्रमा करता है।
  • इसका कोई उपग्रह नहीं है। बुध (Mercury) पर वायुमण्डल का अभाव है तथा चन्द्रमा के समान दिखता है।
  • इसका सबसे विशिष्ट गुण है इसमें चुम्बकीय क्षेत्र का होना। बुध के पास से गुजरने वाला ग्रह मैरिनर है।

शुक्र –  Venus Planet in Hindi 

  • सूर्य से बढ़ती दूरी के क्रमानुसार शुक्र (Venus) का स्थान दूसरा है एवं पृथ्वी से सर्वाधिक नजदीकी ग्रह भी है।
  • यह सबसे अधिक चमकीला तारा है, जिसे भोर का तारा (Morning Star) या शाम का तारा (Evening Star) कहा जाता है, क्योंकि प्रातः यह पूर्व में और सायं पश्चिम में दिखाई पड़ता है।
  • इसे पृथ्वी की बहन या पृथ्वी का जुड़वाँ ग्रह कहा। जाता है, क्योंकि आकार और द्रव्यमान में यह पृथ्वी के लगभग बराबर है।
  • अपनी अक्ष पर 243 दिन में पूर्व से पश्चिम दिशा में घूर्णन करता है।
  • यह सूर्य की परिक्रमा 225 दिनों में पूरी करता है। इसका भी कोई उपग्रह नहीं है।
    शुक्र और मंगल ग्रह पृथ्वी से आकार में छोटे हैं।
  • यूरोपवासी इस ग्रह की पूजा सुन्दरता की देवी के रूप में करते थे।
  • इसका परिक्रमण (Revolution) सभी ग्रहों के विपरीत अर्थात् पूर्व से पश्चिम (ClockwiseDirection) दिशा में है।
  • इसके वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड (97%) की प्रचुरता है, जो एक ग्रीनहाउस गैस है।
  • इसकी सूर्य के प्रकाश को परावर्तित करने की क्षमता (Albedo Power) 70% है। इसी कारण यह सबसे चमकीला ग्रह है, जिसकी आकृति गोलाभ है।

पृथ्वी – Earth Planet in Hindi

  • यह आकार में पाँचवाँ सबसे बड़ा ग्रह है, जिसकी आकृति गोलाभ (Geoid) है। जल की उपस्थिति के कारण इसे नीला ग्रह (Blue Planet) भी कहा जाता है।
  • यह सौरमण्डल का स एकमात्र ग्रह है, जिस पर जीवन है।।
  • आकार एवं बनावट की दृष्टि से पृथ्वी, शुक्र के समान है तथा अपने अक्ष पर 23.5° झुकी हुई है।
  • पृथ्वी अपने अक्ष पर पश्चिम से पूर्व की ओर 1610 किमी प्रति घण्टा की चाल से 23 घण्टे 56 स मिनट 4 सेकण्ड में एक पूरा चक्कर लगाती है। पृथ्वी (५ की इस गति को घूर्णन या दैनिक गति कहते हैं। इसी घूर्णन गति के कारण दिन-रात होते हैं।
  • पृथ्वी 365 दिन 5 घण्टे 48 मिनट 46 सेक की सूर्य का परिक्रमण करती है। सूर्य के चतुर्दिक पृथ्वी की इस परिक्रमा को पृथ्वी की वार्षिक गति परिक्रमण गति कहते हैं।
  • पृथ्वी द्वारा सूर्य की एक परिक्रमा करने में लगा समय  सौर वर्ष कहलाता है। प्रत्येक सौर वर्ष में 6 घंटा अधिक होता है, जिसके कारण हर चौथे वर्ष लीप वर्ष बना समायोजित किया जाता है। लीप वर्ष 366 दिन होता है। जिसके कारण फरवरी में 28 के स्थान 29 दिन होते हैं।
  • परिक्रमा पथ में पृथ्वी के दोनों ओर रहने वाले मंगल व शुक्र हैं।
  • पृथ्वी पर ऋतु परिवर्तन, इसके अक्ष पर झुके होने के कारण तथा सूर्य के सापेक्ष इसकी स्थिति में परिवर्तन अर्थात् वार्षिक गति के कारण होता है।
  • वार्षिक गति के कारण ही पृथ्वी पर दिन-रात छोटे-बड़े होते हैं।
  • पृथ्वी का एकमात्र उपग्रह चन्द्रमा है।
  • भूमध्य रेखा पर दिन-रात की अवधि समान होती है।

मंगल – Mars Planet in Hindi

  • इसे लाल ग्रह (Red Planet) भी कहते हैं, क्योंकि इसकी सतह आयरन ऑक्साइड के कारण लाल होती है।
  • मंगल (Mars) के दिन का मान एवं अक्ष का झुकाव पृथ्वी के समान है।
  • इस ग्रह पर जीवन की सम्भावना व्यक्त की जा रही है, क्योंकि यहाँ पर वायुमण्डल पाया जाता है।
  • यह अपनी धुरी पर 24.7 घण्टे में एक बार पुरा चक्कर लगाता है। इसके दो उपग्रह हैं फोबोस तथा डीमोस (सबसे छोटे उपग्रह)
  • सौरमण्डल का सबसे बड़ा ज्वालामुखी ओलिपस मेसी एवं सौरमण्डल का सबसे ऊँचा पर्वत निक्स ओलम्पिया (Nix Olympia) है, जो माउण्ट एवरेस्ट से तीन गुना ऊँचा है।
  • यहाँ की सतह का तापमान -87°C से -5°C है। इसका आकार अण्डाकार है। इसे सूर्य की परिक्रमा करने में 686 दिन लगते हैं। इसे युद्ध का देवता कहा जाता है।

बृहस्पति – Jupiter Planet In Hindi

  • यह सौरमण्डल का सबसे बड़ा ग्रह है जो सूर्य की परिक्रमा 11 वर्ष 315 दिन 1 घण्टे में करता है।
  • इसके उपग्रहों की संख्या 67 है, जिसमें ‘गैनीमीड सबसे बड़ा उपग्रह है।
  • यह पीले रंग का उपग्रह है। इसके अन्य उपग्रह यूरोपा, कैलिस्टो, आयो हैं।
  • यह अपनी धुरी पर सिर्फ 9.8 घण्टों में घूम जाता है। (सबसे तेज)। बृहस्पति (Jupiter) पर एक विशालकाय लाल धब्बे (Great Red Spot) की खोज पायनियर अन्तरिक्ष अभियान द्वारा हुई।
  • ये धब्बे अशान्त बादल के सूचक हैं। इस ग्रह से रेडियो तरंगें प्रसारित होती हैं।
  • बृहस्पति की सतह का तापमान -108° C तथा भीतरी तापमान 25000°C तक है। इसके वायुमण्डल का तापमान -125°C तक रहता है।

शनि – Saturn Planet In Hindi

  • शनि (Saturn) आकार में सौरमण्डल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है।
  • यह आकाश में पीले तारे के समान नजर आता है।
  • इसके तल के चारों ओर वलय का होना ही इसकी प्रमुख विशेषता है। यह सूर्य की परिक्रमा 29.5 वर्ष में पूरी करता है।
    यह अपनी धरी पर 10.2 घण्टे में घूमता है।
  • इसके उपग्रहों की संख्या 62 है।
  • शनि का सबसे बड़ा उपग्रह टाइटन है, जो बुध ग्रह के बराबर है। और टाइटन पर नाइट्रोजनीय वातावरण हाइड्रोकार्बन मिले हैं।
  • शनि (Saturn) के अन्य प्रमुख उपग्रह हैं– मीमास एनसीलाडू, टेथिस, रीया, फोवे आदि।
  • शनि सबसे कम घनत्व (Density) वाला ग्रह (0.7) है। । इसके रासायनिक संगठन में मुख्यतः हाइड्रोजन और हीलियम तथा कुछ मात्रा में मीथेन और अमोनिया गैसें हैं।
  • शनि ग्रह का तापमान -189°C है। इसके वायुमण्डल * का औसत तापमान -180° C होता है।
  • फोवे, शनि की कक्षा में घूमने के विपरीत परिक्रमा | करता है। इसे कृषि का देवता माना जाता है।

अरुण – Uranus Planet In Hindi

  • अरुण (Uranus) के खोजकर्ता सर विलियम हर्शेल (1781 ई.) हैं।
  • यह सूर्य से सातवाँ और आकार में तृतीय ग्रह है।
  • यह अपनी धुरी पर 10.8 घण्टे में घूमता है, जबकि सूर्य के चारों ओर 84 वर्षों में घूमता है।
  • इसके ज्ञात उपग्रह 27 हैं। जिनमें प्रमुख हैं- एरियल, टिटेनियाँ, मिराण्डा इसका सबसे बड़ा उपग्रह टाइटेनिया है।
  • अरुण अर्थात् यूरेनस का परिक्रमण भी शुक्र की तरह पूर्व से पश्चिम (Clockwise) होता है, जबकि अन्य सभी ग्रह पश्चिम से पूर्व (Anti-Clockwise) परिक्रमण करते हैं।
  • इसके चारो ओर 9 वलय हैं जिनमें पाँच प्रमुख वलयों के नाम हैं—अल्फा (), बीटा (B), गामा (१), डेल्टा (A) एवं इप्सिलॉन। इसका तापमान -197°C है।
  • इसके वायुमण्डल का औसत तापमान -225°C है। यहाँ सूर्योदय पश्चिम की ओर एवं सूर्यास्त पूरब की ओर होता है।
  • यह ग्रह नीले-हरे रंग को उत्सर्जित करता है।
  • यहाँ मीथेन गैस पायी जाती है।
  • यह अपनी धुरी पर सूर्य की ओर इतना झुका हुआ है कि | लेटा हुआ-सा दिखाई पड़ता है, इसलिए इसे लेटा हुआ ग्रह कहा जाता है।
  • यह ग्रह सर्वाधिक गैसों से घिरा हुआ है। इसके सभी उपग्रह भी पृथ्वी की विपरीत दिशा में परिक्रमण करते हैं।

वरुण – Neptune Planet in Hindi

  • वरुण (Neptune) सौरमण्डल का चौथा सबसे बड़ा तथा सूर्य से आठवाँ ग्रह है।
  • यह सबसे ठण्डा ग्रह है तथा यहाँ वर्ष दीर्घतम होता है।
  • इसकी सतह का तापमान -193° C है। यहाँ मीथेन गैस होने के कारण यह धुंधले हरे रंग का नजर आता है।
  • यह पृथ्वी और सूर्य से सर्वाधिक दूरी पर स्थित है। * इस ग्रह के चारों ओर वलय हैं, जो सिलिकेट या कार्बन तत्त्वों से बने हैं।
  • इसके आठ उपग्रह हैं, जिसमें ट्रिटोन व नेरिड ऐन प्रमुख हैं।
  • इसको जर्मन वैज्ञानिक जे जी गाले (JG Galle) ने 1846 ई. में खोजा था।
  • इसे समुद्र का देवता कहा जाता है।
  • इसके वायुमण्डल में 80% हाइड्रोजन एवं 19% हीलियम है।
  • यह अपनी धुरी पर 15.8 घण्टे में और चारों ओर 165 वर्षों में घूमता है। ,
  • अरुण और वरुण ग्रह सहोदर भाई के न जाने जाते हैं।

यम (Pluto) इसके खोजकर्ता कलाड टाम (1930) प्रारम्भ में इसे नौवाँ ग्रह माना जाता रहा. 24 अगस्त, 2006 को चेक गणराज्य के प्राग में हुई अन्तर्राष्ट्रीय खगोल विज्ञानी संघ (आईएयू, की बैठक में खगोल वैज्ञानिकों ने प्लूटो चन्द्रमा से भी छोटे आकार का होने और वृत्ताकार कक्ष वाला न होने के कारण उससे ग्रह होने का दर्जा छीन लिया। सौरमण्डल में मात्र 8 ग्रह रह गए हैं।

Solar System In Hindi PDF

solar system in hindi PDF ko download karne ke liye niche diye link par click kare.

Download : Solar System PDF In Hindi

Yeh Bhi Pade…

To dosto kesi lagi aapko yeh post Solar System In Hindi – सौरमंडल और ग्रह (Planets) की पूरी जानकारी hame comments kar ke jaroor bataye or Solar System In Hindi ( saurmandal ke graho ke naam or jankari ) ki is post ko apne dosto ke sath share karna na bhule.

Search Terms : 

  • Essay on solar system in hindi
  • Picture of solar system in hindi
  • Solar system information in marathi
  • Solar system in hindi meaning
  • Solar system information
  • Planet trick in hindi solar
  • System in english

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Frontier Theme