Transistor In Hindi – Transistor क्या है ( NPN And PNP )

Hello Friends, Aaj ki post me hum Transistor In Hindi ke bare me aap logo ke sath share karne wale hai Transistor kya hota hai, NPN and PNP Transistor Full Form, Symbol sabhi is post me btane wale hai.

NPN And PNP Transistor working, Trasisitor Theory, Transisitor Operation And Transistor in hindi PDF bhi aapko provide karne wale hai to dosto chaliye suru karte hai.

Transistor In Hindi – Transistor क्या है

ट्रांजिस्टर एक अर्ध चालक इलेक्ट्रॉनिक युक्ति है जो तापायनिक ट्रायोड वाल्व के स्थान पर प्रयुक्त की जाती है। ट्रांजिस्टर का आविष्कार अमेरीकी वैज्ञानिक विलियम शोकली (Willium Shockly), जौन बान (John Bardeen) तथा बराटेन (W.H. Brattian) ने सन् 1951 में किया। इसके आविष्कार तथा उत्थान के लिये तीनों वैज्ञानिको को 1956 में नोबेल पुरस्कार दिया गया। ट्रांजिस्टर दो प्रकार के होते हैं

PNP And NPN Transistor Symbol

pnp and npn transistor

1. PNP Transistor ( ट्रांजिस्टर )

 pnp transistor

PNP Transistor Full Form: 

PNP stands for Positive Negative Positive.

इसमें एक अकेला उत्सर्जक आधार संग्राहक अर्द्धचालक क्रिस्टल होता है, जिसके दोनों ओर P-टाइप अशुद्धि तथा बीच की एक पतली पर्त (thin layer) में N-टाइप अशुद्धि मिला देते हैं। बीच की पर्त की मोटाई बहुत कम (लगभग 100 मी) होती है तथा इसे आधार (Base) कहते हैं। आधार वे दोनों ओर P-टाइप अर्द्धचालक होते हैं, इन्हें क्रमशः उत्सर्जक (emitter) तथा संग्राहक (Collector) कहते हैं।

2. NPN Transistor ( ट्रांजिस्टर )

npn transistor

NPN Transistor Full Form: 

NPN stands for Negative Positive Negative.

इसमें एक अकेला अर्धचालक क्रिस्टल होता है, जिसके दोनों ओर N-टाइप अशुद्धि तथा बोच को एक पतली पते में P-टाइप अशुद्धि मिला देते हैं। बीच की पर्त को आधार (Base) कहते हैं। आधार के दोनों ओर N-टाइप अर्धचालक होते हैं जिन्हें क्रमशः उत्सर्जक (emitter) तथा संग्राहक (collector) कहते हैं। इसमें तीर की दिशा आधार (B) से उत्सर्जक (E) की ओर होती है।

किसी भी प्रकार के टॉजिस्टर में उत्सर्जक व संग्रहक एक ही टाइप (PNP में P-टाइप तथा NPN में – N टाइप) के होते हैं, उत्सर्जक में अशुद्धि, संग्राहक की अपेक्षा कुछ अधिक मिलाते हैं क्योंकि उत्सर्जक ही ट्रांजिस्टर में धारा प्रवाह के लिये बहुसंख्यक आवेश वाहको (majority charge carriers) की सप्लाई करता है।

इसके अतिरिक्त संग्राहक को उत्सर्जक से कुछ चौड़ा (wider) बनाया जाता है। कोई भी ट्रांजिस्टर (PNP या NPN) सैद्धान्तिक रूप से दो PN-संधि डायोडों (Junction diodes) से मिलकर बना हुआ माना जा सकता है जिनमें से एक उत्सर्जक-आधार (emitter-base) संधि डायोड है जबकि दूसरा आधार-संग्राहक (base-collector) संधि डायोड है। उत्सर्जक-आधार संधि को सदैव अग्र-अभिनत (forward biased) करते हैं जबकि आधार-संग्राहक संधि को सदैव उत्क्रम अभिनत (reverse biased) करते हैं।

Transistor in hindi PDF

Download: Transition In hindi PDF

To dosto kesi lagi aapko yeh post Transistor In Hindi – Transistor क्या है ( NPN And PNP ) hame comments kar ke jaroor btaye or is post ko apne dosto ke sath jaroor share kare. Thankxx

Yeh Bhi Pade…

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Contact Us Frontier Theme