Atom In Hindi ( परमाणु क्या है )- Paribhasha, Udaharan or Parmanu Ki khoj

Hello Friends, Is post me hum What is Atom In Hindi ( परमाणु क्या है ) – Parmanu Kya Hai, Paribhasha, Udaharan or Parmanu Ki khoj kisne ki in sabke bare me details me janege.

Aur Electron, Proton, Neutron kya hai, ki khoj kisne ki ke bare mai bhi janege to dosto ab me aapko niche post me Atom In Hindi ke bare me batata hu to chaliye suru karte hai.

Atom In Hindi

atom in hindi

  • द्रव्य का वह सूक्ष्मतम कण, जो किसी रासायनिक अभिकिर्या में भाग लेता है, परमाणु कहलाता है ( डाल्टन परमाणु सिद्धांत, 1803 ) परमाणु स्वतंत्र अवस्था में नहीं रहता है।
  • परमाणु कई प्रकार के सूक्ष्मतर कणों से बना होता है जिनमें इलेक्ट्रॉन, प्रोटोन एवं न्यूट्रॉन मुख्य है।
  • इन कणों को मौलिक कण (Fundamental Particles) भी कहा जाता है।

Parmanu Ki Khoj Kisne Ki 

परमाणु की खोज जॉन डाल्टन ने 1803 में की थी। परमाणु को न तोडा जा सकता है न बनाया जा सकता है और नहीं इसे तोडा जा सकता है।

कण खोज स्थिति
इलेक्टॉन जे जे थॉमसन नाभिक के चारो और
प्रोटोन गोल्डस्टीन नाभिक में
न्यूट्रॉन चैडविक नाभिक में

इलेक्ट्रॉन (Electron – e°)

  • यह परमाणु का ऋणावेशित मूल कण है इसकी खोज जे.जे. थॉमसन ने की थी।
  • ये नाभिक के चारों ओर घूमते हैं, इसका द्रव्यमान 9.1 x 10-31 किग्रा या 0.000554u होता है।
  • इलेक्ट्रॉन का द्रव्यमान लगभग शून्य माना जाता है। इस पर इकाई ऋण आवेश रहता है अर्थात इसका आवेश -16 x 10-19 कूलॉम होता है। (जिसे मिलिकन तेल बूंद प्रयोग द्वारा ज्ञात किया गया)।
  • इसका प्रतिकण पॉजिट्रॉन है।
  • नाभिक (Nucleus) नाभिक की खोज रदरफोर्ड ने की थी, इसमें न्यूट्रॉन तथा प्रोट्रॉन उपस्थित होते हैं, जिन्हें सम्मिलित रूप से न्यूक्लिऑन (Nucleon) कहा जाता है।

प्रोटॉन (Proton)

  • इसकी खोज गोल्डस्टीन ने की थी। | यह धनावेशित (positively charged)
    होते हैं।
  • इसका आवेश +1.6 x 10-19 कूलॉम (इकाई धनावेश) तथा द्रव्यमान 1.673 X 10-27 किग्रा या 1.00734u होता है।
  • ये नाभिक में उपस्थित होते हैं। इनका द्रव्यमान, इलेक्ट्रॉन के द्रव्यमान का 1836 गुना होता है।
  • प्रोटॉन का सापेक्ष द्रव्यमान हाइड्रोजन परमाणु के 1 द्रव्यमान के लगभग बराबर होता है।

महत्त्वपूर्ण बिन्दु

  • केवल हाइड्रोजन-1 एक ऐसा स्थायी नाभिक है। जिसमें न्यूटॉन नहीं होते है। )
  • इलेक्ट्रॉन, नाभिक से विद्युत चुम्बकीय बलो द्वारा बँधे होते हैं।
  • इलेक्ट्रॉनों व प्रोटॉनों की समान संख्या वाला परमाणु उदासीन होता है। यदि इलेक्ट्रॉनों की संख्या, प्रोटॉनों से कम हो (अर्थात् यह इलेक्ट्रॉन न्यून हों) तो परमाणु पर धनावेश होता है तथा इसे धन आयन कहते है।
  • यदि इलेक्ट्रॉनों की संख्या प्रोटॉनों से अधिक हो, तो परमाणु पर ऋणावेश होता है अर्थात् परमाणु ऋण आयन में परिवर्तित हो जाता है। लुईस डी-ब्रॉग्ली के अनुसार, सभी कण तरंग के समान व्यवहार करते है।

न्यूट्रॉन ( Neutron ) 

  • इसकी खोज चैडविक की थी इसका आवेश शून्य तथा द्रव्यमान 1.674×10-27 किग्रा या होता है।
  • ये नाभिक के अंदर स्थित होते है।
  • इसका प्रतिकण एंटीन्यूट्रिनो है।
  • इसका द्रव्यमान प्रोटोन के द्रव्यमान के लगभग बराबर होता है, लेकिन इस पर कोई आवेश नहीं रहता है।

Yeh Bhi Pade…

To dosto kesi lagi aapko yeh post Atom In Hindi ( परमाणु क्या है ) – Paribhasha, Udaharan or Parmanu Ki khoj hame comments kar ke jaroor btaye or is post ko apne dosto ke sath share karna na bhule.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Contact Us Frontier Theme