ओम का नियम Class 10th, 12th – परिभाषा, प्रयोग

हेलो दोस्तों, आज में आपको ओम का नियम परिभाषा एवं प्रयोग बताने जा रहा हूँ  इस नियम को बच्चे Class 10th, 12th में Physics में पड़ते है अगर आप Electrical ब्रांच से ITI कर रहे है फिर वहाँ भी आपको ओम का नियम की बहुत जरूरत पड़ने वाली है इस नियम की खोज सर्वप्रथम जर्मन भौतिकशास्त्री तथा गणितज्ञ जॉर्ज साइमन ओम ने किया था। इसलिए इसे उन्हीं के नाम पर ओम का नियम (ओह्म्स लॉ) कहते हैं।

ओम का नियम Class 10th, 12th - परिभाषा, प्रयोग
ओम का नियम Class 10th, 12th – परिभाषा, प्रयोग

“ओम के नियम” को पड़ने से पहले हम थोड़ा बेसिक समझ लेते है जिसकी जरूरत ओम के नियम में होती है जैसे – धारा, वोल्टेज और प्रतिरोध किसे कहते है 

Current ( धारा )

किसी बंद परिपथ में आवेश  परवाह की दर को धारा या करंट कहते है धारा को I से प्रदर्शित करते है | इसकी SI इकाई या मात्रक एम्पीयर है और इसे मापने का यन्त्र Ameter होता है |

धारा का सूत्र: I = Q/t  ( धारा   = आवेश/ समय ) एम्पियर

Voltage ( वोल्टेज यानि प्रेशर )

किसी परिपथ में वह प्रेशर जो विधुत धारा को बहने में मदद करता है वोल्टेज कहलाता है जिस परिपथ में जितना ज्यादा वोल्टेज होगा उतनी ज्यादा करंट फ्लो होगी |  वोल्टेज को v  से प्रदर्शित करते है | इसकी SI इकाई या मात्रक वोल्टेज ही है और वोल्टेज मापने का यन्त्र Multi-Meter, Volt Meter होता है |

Resistance ( प्रतिरोध )

जब  किसी चालक में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है, तो चालक विद्युत धारा के मार्ग में रुकावट डालता है। इसे चालक का प्रतिरोध कहते है। वोल्टेज को R से प्रदर्शित करते है | इसकी SI इकाई या मात्रक ओम (ohm) होता है।

प्रतिरोध का सूत्र: R = V/I ( प्रतिरोध = विभवान्तर /धारा )

तो दोस्तों अब आप समझ चुके हो की धारा, वोल्टेज और प्रतिरोध किसे कहते है अब में आपको ओम का नियम क्या है किसे कहते है बताने वाला हूँ आप इस ओम के नियम को सही ढंग से समझने की कोशिस करे |

ओम का नियम (Ohm’s Law)

ओम का नियम (Ohm’s law) – समान ताप व स्थिति में, किसी विधुत परिपथ में प्रतिरोध के सिरों पर उत्पन्न विभवान्तर(वोल्टेज) उस प्रतिरोध में प्रवाहित होने वाली धारा (flow of current) के समानुपाती होता है।
यानि की V ∝ I तो इस नियम को ओम का नियम कहते है
इसको V=IR भी लिख सकते है।

इसी सूत्र का उपयोग करके आप वोल्टेज, धारा और प्रतिरोध के मान निकाल सकते हैं । जैसे –
V = IR
R = V/I
I = V/R

Example :- 

Q. एक डीसी मोटर जिसे 10 Voltage सप्लाई प्राप्त हो रही है इसका कुल प्रतिरोध 5  ओह्म है तो परिपथ मे प्रवाहित विद्युत धारा का मान क्या होगा ?

Ans. वोल्टेज = 10 , प्रतिरोध = 6
ओह्म के नियमानुसार
V = IR
10  = 6×I
I = 10 /5
I (धारा) = 2 एम्पियर

तो दोस्तों किसी लगी आपको यह पोस्ट ओम का नियम Class 10th, 12th – परिभाषा, प्रयोग हमें कमेंट कर के जरूर बताये और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करे |



Important Notes

Updated: January 25, 2019 — 5:08 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Frontier Theme