Archimedes Principle in hindi – आर्कमिडीज का सिद्धान्त

आर्कमिडीज का सिद्धान्त ( Theory of Archimedes ) | Law of Archimedes | Archimedes Law  
हेलो दोस्तों आज की पोस्ट में  हम जानेगे Archimedes Principle in Hindi – आर्कमिडीज का सिद्धान्त क्या है तथा Arkmidij Theory in Hindi किसे कहते है |  Archimedes एक बहुत बड़े Scientist थे जिन्होंने एक सिद्धांत ( Principal ) दिया है उन्ही के नाम पर इस सिद्धांत ( Principal ) का नाम आर्कमिडीज का सिद्धान्त पड़ा है |
Archimedes Principle in hindi - आर्कमिडीज का सिद्धान्त
Archimedes Principle in hindi – आर्कमिडीज का सिद्धान्त

नीचे पोस्ट में हम इसी नियम ( Archimedes Principle in hindi ) के बारे में जानेगे तथा आर्कमिडीज के सिद्धांत का उदाहरण भी आपको बताया जायेगा जो आपको सही ढंग से समज में आ जायेगा |

आर्कमिडीज का सिद्धान्त बताने से पहले में आप लोगो को आर्कमिडीज के बारे में कुछ बता देता हूँ |

Archimedes Biography: आर्किमिडीज़ एक यूनानी गणितज्ञ, भौतिक विज्ञानी, आविष्कारक और खगोल विज्ञानी थे। वह 287 ईसा पूर्व में सिसिली में सिरैक्यूज़, सिसिली में पैदा हुआ थे। वह गणित का अध्ययन करने के लिए अलेक्जेंड्रिया चले गए | भौतिक विज्ञान में उन्होनें जलस्थैतिकी, सांख्यिकी और उत्तोलक के सिद्धांत की व्याख्या की नीव रखी थी। उन्हें नवीनीकृत मशीनों को डिजाइन करने का श्रेय दिया जाता है, इनमें सीज इंजन और स्क्रू पम्प शामिल हैं।

खोजें और आविष्कार (Discoveries and inventions)

१. सोने का मुकुट (The Golden Crown)
२. आर्किमिडिज़
३. आर्किमिडीज का पंजा (The Claw of Archimedes)
४. आर्किमिडीज की ऊष्मा किरण (The Archimedes

अगर आपको आर्कमिडीज के बारे में और जान ना  है तो आप विकिपीडिया पर इनके बारे मे जान सकते है |

Archimedes Principle in hindi – आर्कमिडीज का सिद्धान्त

जब कोई वस्तु किसी द्रव में पूर्ण अथवा आंशिक रूप से डुबोई जाती है तो उसके भार में कमी का आभास होता है भार में यह आभासी कमी वस्तु द्वारा हटाए गए द्रव के भार के बराबर होता है | इस नियम को ही Arkmidij ka Sidhant कहते है |

इस नियम को सही से समझने के लिए यह वीडियो जरूर देखे |

तो दोस्तों यह था Archimedes Principle in hindi आशा करता हूँ की आपको ये नियम समज में आ गया हो अगर आपको कुछ पूछना है तो आप हमें कमेंट कर के पूछ सकते है |

Related Post

Updated: January 5, 2019 — 7:39 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Helptak.com © 2019 Contact Us Frontier Theme